Who am I ? What do I stand for ?? What is my endeavor ???

I am a साधक( a devotee ) trying to follow the path shown by my Guru :
“नित्य एकत्व साधना।” सरल भाषा में मेरा उद्देश्य है : प्रभु के साथ सतत योगमय जीवन।
सदविचार, सदवचन सदाचार और समर्पण पर साधना केंद्रित करने का संकल्प :

” नाम जपता रहूँ ; काम करता रहूँ। तन से सेवा करू, मन से संयम करूँ।। ”
” कहहीं सत्य प्रिय वचन विचारी। जागत सोवत सरन तुम्हारी।।”
” रामनाम दीपक बिना जन मन में अन्धेर। रहे इससे हे मम मन नाम सुमाला फेर।। ”

I am averse to religious rituals and give preference to मानव धर्म, which accepts
disciplined life of righteousness based on tolerance, humility and leading a life devoted enhancing knowledge, skills and positive attitude in all spheres of Professional, Family and Social endeavor and move on the road to EXCELLENCE, अंतर्मन से प्रेरणा लेकर स्वाध्याय-स्वास्थ्य वर्धन करते हुए, प्रभु कृपा से आत्मिक आनन्द में मग्न रहते हुए, सेवा एवं प्रभुनाम कमाई करना,और समर्पण भाव से समता में रहने का सतत प्रयास करना है !

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s